कुत्ते ने अपनी जान देकर बचाई सेना के 6 जवानों की जान… पूरा देश कर रहा है इस बहादुरी को सलाम

ऐसा नहीं है कि इंसान ही भारत माता की सेवा करने के लिए सेना में भर्ती होते हैं, कुत्ते भी भारत माता की सेवा करने के लिए सेना में भर्ती होते हैं और इंटेलिजेंस में भारत माता के ये लाल किसी मनुष्य से कम नहीं होते हैं, बमों की गंध और खून के दाग को कुत्ते दूर से ही देखकर पहचान लेते हैं, अपराधियों को उनका हाव भाव देखकर ही पहचान लेते हैं।

अपराधी किस दिशा में भाग रहे हैं इन्हें पता चल जाता है और ये उन्हें दौड़ कर पकड़ लेते हैं। कुत्ते भी सेना में शामिल होकर भारत माता की सेवा करते हैं। कल भारत माता की सेवा करते हुए एक स्निफर डॉग जिसका नाम Cracker था, छत्तीसगढ़ के बीजापुर में शहीद हो गया लेकिन भारत माँ के इस लाल ने खुद की शहादत देकर दर्जनों जवानों की जान बचा ली।

रिपोर्ट के अनुसार बाजीपुर जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र चिन्ना कोडेपाल इलाके में CRPF जवान गस्त पर गए थे, उनके साथ Cracker भी था, वहां पर नक्सलियों ने लैंड माइंस बिछा रखी थी, स्निफर डॉग Cracker आगे आगे चल रहा था, जवान पीछे पीछे चल रहे थे, कमान्डेंट भानू प्रकाश रेड्डी क्रैकर को पकड़कर उसके साथ चल रहे थे, अचानक IED ब्लास्ट हुआ और क्रैकर के चीथड़े उड़ गए, भानु प्रकाश रेड्डी को भी हलकी चोटें आयीं लेकिन पीछे चल रहे जवान बाल बाल बच गए, इस तरह से भारत माँ के इस लाल ने खुद शहादत देकर दर्जनों जवानों की जान बचा ली।

क्रैकर की इस बहादुरी पर पूरा देश इसे सलाम ठोंक रहा है। हर कोई इसकी तारीफ कर रहा है और इसकी आत्मा की शांति के लिए दुवा कर रहा है।